5+5 जिंदगी शायरी, jindagi Shayari

1. जिंदगी शायरी, jindagi Shayari, 2. चार दिन की जिंदगी शायरी, Char din ki jindagi Shayari, 3. मंजिल मुझसे शायरी, Manjil mujse Shayari, 4. अपना पराया शायरी, apna paraya Shayari, 5. उनकी यादों का शायरी, Unki Yaadon ka,

 

 

Photo Shayari

जिंदगी हर कदम पे इन्तिहा लेती है,
कभी चाहत के नाम पे,
कभी दुनिया दारी के काम से,

 

Photo Shayari

Jindagi har kadam pe entiha leti hai,
Kabhi chahat ke name pey,
Kabhi duniya dari ke Kam se,

 

Photo Shayari

चार दिन की जिंदगी है,
बाकि सब दूद कम पानी है,
जिंदगी जीना है, आज में जी लो,
कल का सवेरा किस ने देखा,

 

Photo Shayari

Char din ki jindagi hai,
Baki sab duud kam pani hai,
Jindagi jina hai, aaj me jii lo,
Kal ka sawera kis ne dekha,

 

Photo Shayari

मंजिल मुझसे रूठ गई,
रस्ते मेरे खो गे,
जिंदगी तू अब जीना छोड़ दे,
जीने के सारे, सहारे छूट गए,

 

Photo Shayari

Manjil mujse Ruth gai,
Raste mere kho gay,
Jindagi tu ab jina chhod de,
Jine ke sare, sahare chhut gae,

 

Photo Shayari

अपना पराया सब दुनिया की माया है,
किसने किया खोया और किसे किया पाया,
जे सब दुनिया की काया है,
में जी नहीं सकता अब इस दुनिया में,
जहां हर कुछ पराया है,

 

Photo Shayari

Aapna paraya sab duniya ki Maya hai,
Kisne Kiya khoya or kise Kiya paya,
Je sab duniya ki kaya hai,
Me ji nahi sakta ab es duniya me,
Jaha har kuch paraya hai,

 

Photo Shayari

उनकी यादों का किया, कहना यारों,
जब जी रहा था, जीने न दिया,
मरने के बाद, उनकी यादों ने चैन से,
सोने न दिया,

 

Photo Shayari

Unki Yaadon ka Kiya, kahna yaaron,
Jab ji Raha tha, Jine na deya,
Marne ke bad, unki Yaadon ne chaine se,
sone na deya,