sitam karne wali shayari in hindi image,

sitam karne wali shayari in hindi image

Muskura kar dil jalana teri aadat ban gai,
Hmen dekh kar, chhup jana sitam ho gai,

मुस्कुरा कर दिल जलाना तेरी आदत बन गई,
हमें देख कर, छुप जाना सितम हो गई,

Naa kar bekrar Etna,
Ki mera dil tut kar,
Mahobbat se,
nafrat me Naa badal jae,

ना कर बेक़रार इतना,
की मेरा दिल टूट कर,
महोब्बत से,
नफ़रत में ना बदल जाए,

Hmne chaha tumko apna samj ke,
Tune mere payar ko thukraya begana samj ke,

हमने चाहा तुमको अपना समझ के,
तूने मेरे प्यार को ठुकराया बेगाना समज के,

Sitam gairo ne nahi apno ne kiya hai,
Kar ke wade, Nibhate nahi,
Keh dete hai apna,
Par Apna banate nahi,

सितम गैरो ने नहीं अपनों ने किया है,
कर के वादे, निभाते नहीं,
कह देते है अपना,
पर अपना बनाते नहीं,

Hm karte rahe Bfaa or wo bewafai kar gai,
Je kya kam hai,
Jo wo ak pal me hmko bhulaa gai,

हम करते रहे बफा और वो बेवफाई कर गई,
जे क्या काम है,
जो वो एक पल में हमको भुला गई,

Naa hoti mahobbat,
Naa hmpe sitam hota,
Shishe ka dil tha mera,
Pathar se naa takrayaa hota,

ना होती महोब्बत,
ना हमपे सितम होता,
शीशे का दिल था मेरा,
पत्थर से ना टकराया होता,

Mahobbat hai to akhri sans tak nibhaunga,
Tu kar lakh sitam,
Me fir bhi tumko chahunga,

महोब्बत है तो आखरी सांस तक निभाऊंगा,
तू कर लाख सितम,
में फिर भी तुमको चाहूँगा,