Manjil ho tum

मंजिल हो तुम
Photo Shayari

मंजिल हो तुम,
में तुम तक पहुँच जाऊँगा,
दुनिया की रस्मों का किया
में अपनी सासों को तोड़ जाऊँगा,

 

Manjil ho tum
Photo Shayari

Manjil ho tum,
Me tum Tak pahunch jaunga,
Duniya ki rasmo ka Kiya
me apni sasaon ko tod jaunga,

 

मंजिल है किया
Photo Shayari

मंजिल है किया,
में खुद को भूल जाऊंगा,
तू नहीं जो इस जहाँ में,
तो इस जहाँ को छोड़ जाउंगा,

 

Manjil hai Kiya,
Photo Shayari

Manjil hai Kiya,
me khud ko bhul jaunga,
Tu nahi Jo es Jahan me,
To es Jahan ko chhod jaunga,

 

न कोई मंजिल
Photo Shayari

न कोई मंजिल न कोई ठिकाना,
बस हमें है चलते जाना,
तुम्हारी यादों का सहारा है,
उसके सिवा कौन हमारा है,

 

 

Na koi manjil
Photo Shayari

Na koi manjil na koi thekana,
Bas hame hai chalte Jana,
Tumahari yaadon ka Sahara hai,
Uske sewa Kon hamara hai,

 

मंजिल नहीं
Photo Shayari

मंजिल नहीं न ही कोई रास्ता,
अब दुनिया से न कोई वास्ता,
तेरा साथ जो छूटा,
दुनिया से हर नाता टुटा,

 

Manjil nahi
Photo Shayari

Manjil nahi na hi koi Rasta,
Ab duniya se na koi wasta,
Tera sath Jo chuta,
Duniya se har nata tuta,

 

ज़िंगगी से मोत
Photo Shayari

किस की तलाश मै हूँ,
मै नहीं जानता
मरे भी कोई मंजिल है
मै नहीं मानता,
ज़िंगगी से मोत का है
जे सफर,
मै सिर्फ कफ़न हु मागता

 

Jingagi se mot
Photo Shayari

Kis ki tlash me hu,
Me nahi janta
Mare bhi koi manjil hai
Me nahi manta,
Jingagi se mot ka hai
Je safar,
Me sirf kafan hu magta

शायरी शेयर करें, Shayari share Karen,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *