Taron me Shayari

तारे गिन गिन कर
Photo Shayari

तुम से दूर रहके जीना सीख रहा हु,
आसमान में तारे गिन गिन कर,
रात गुजारना सीख रहा हु,

 

Tare gin gin kar
Photo Shayari

Tum se dur rahke jina Sikh Raha hu,
Asman me tare gin gin kar,
Rat gujarna sikh Raha hu,

 

रात तारे गिन गिन
Photo Shayari

तुम्हारी यादों के सहारे अब जिया न जाय,
तुम कब आओगे, और इंतजार किया न जाय,
दिन तो गुजर गया, रात तारे गिन गिन गुजारा न जाय

 

raat tare gin gin
Photo Shayari

Tumhari yaadon ke sahare ab Jiya na Jay,
Tum kab aaoge, or intezaar Kiya na Jay,
Din to gujar Gaya, raat tare gin gin Gujara na jay

 

तारों में खो जाना
Photo Shayari

दुनिया से दूर आसमान में,
तारों में खो जाना चाहता हु,
तुम मत आना
अब
तुमहारा नहीं मोत का इंतजार करता हु,

 

Taron me kho Jana
Photo Shayari

Duniya se dur asman me,
Taron me kho Jana chahata hu,
Tum mat aana
Ab
Tumhara nahi mot ka intezaar karta hu,

 

दूर तारों में
Photo Shayari

दुनिया में नहीं,
में तारों में रहना चाहता हु,
करीब से न सही,
दूर तारों में रह के, तुम्हे देखना चाहता हु,

 

Dur Taron me
Photo Shayari

Duniya me nahi,
Me Taron me rahna chahata hu,
Karib se na sahi,
Dur Taron me rah ke, tumhe dekhna chahata hu,

 

तारो ने पनाह दी
Photo Shayari

तेरी जुदाई के गम ने हमें हसने न दिया, कब मुलाकात होगी इस तड़प ने चैन से जीने न दिया,,
जब मैं थक गया तो तारो ने पनाह दी पर तेरी याद ने हमें सोने न दिया,,

 

taro ne panah di
Photo Shayari

Teri judai ke gam ne hame hasne na diya, kab mulakat hogi is tadap ne chen se jine na diya,,
Jab mai thak gya to taro ne panah di par teri yad ne hame sone na diya,,

शायरी शेयर करें, Shayari share Karen,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *